Connect with us

ट्रेंडिंग

हिंदी फिल्म जगत में अमिताभ बच्चन की गोल्डन जुबली!

वर्ष 1984 में बिग बी को पद्मश्री से सम्मानित किया गया, वर्ष 2001 में पद्म भूषण और फिर वर्ष 2005 में उन्हें पद्म विभूषण की उपाधि से नवाज़ा गया।

Published at

on

हिंदी फिल्म जगत के महानायक और दुनिया के करोड़ों सिनेमा प्रेमियों के चहेते अमिताभ बच्चन आज एक ऐसे संग-ए-मिल (माइलस्टोन) तक पहुँच चुके हैं, जहां तक जाना आज जैसे कल्पना मात्र सा लगता है। क्रिकेट में जहां सचिन तेंदुलकर भगवान के रूप में पूजे जाते हैं, तो वहीं बॉलीवुड में वही दर्जा बिग बी को दिया जाता है। ये उनके करोड़ों प्रशंसकों की दुवाएं ही हैं, जो वह आज भी लगातार फिल्में किये जा रहे हैं। वर्ष 1969 में सिनेमा घरों में आई उनकी पहली फ़िल्म सात हिंदुस्तानी से लेकर आज अमिताभ बच्चन फिल्मी सफर में अपने गोल्डन जुबली वर्ष के पड़ाव पर हैं। अमिताभ बच्चन ने हिंदी फिल्म जगत में 50 वर्ष पूरा करने की तस्वीर सोशल मीडिया पर अपने प्रशंसकों के बीच साझा की है।

बिग बी अक्सर फिल्मी सफर में अपनी सभी भूली-बिसरी यादों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर अपने प्रशंसकों के बीच साझा करते हैं। 50 वर्ष के फिल्मी करियर में बिग बी को कई बार सम्मानित किया गया, उन्हें अनगिनत पुरस्कार मिले हैं। आज भी वह खास मौकों पर अपनी फिल्मों को लेकर पुरस्कृत किये जाते हैं। शायद यही कारण है कि विश्व के सबसे ज्यादा प्रतिभाशाली लोगों की श्रेणी में इस बार भी अमिताभ बच्चन को शामिल किया गया है। फिल्मी सफर में अपने 50वें यानि स्वर्ण जयंती वर्ष के पड़ाव की खुशी के साथ-साथ बिग बी ने इस मौके पर वर्ल्ड्स मोस्ट एडमायर्ड लोगों की लिस्ट भी साझा की है। इस वर्ष बिग बी इस लिस्ट में 2.9 अंक के साथ 12वें क्रमांक पर हैं। इस लिस्ट में भारत की ओर से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सबसे ऊपर हैं, उनके बाद बिग बी का नम्बर आता है। इनके अलावा शाहरुख खान, सलमान खान, दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा, ऐश्वर्या राय और सुष्मिता सेन भी इस लिस्ट में शामिल हैं।

बिग बी ने दूसरी तस्वीर में अपने फिल्मी सफर के 50 वर्षों का जिक्र किया है। इस तस्वीर में बिग बी को मिले कुछ अहम पुरस्कारों का चित्रण किया गया है। वर्ष 1984 में बिग बी को पद्मश्री से सम्मानित किया गया, वर्ष 2001 में पद्म भूषण और फिर वर्ष 2005 में उन्हें पद्म विभूषण की उपाधि से नवाज़ा गया। इसके अलावा इस तस्वीर में राष्ट्रीय पुरस्कारों का भी जिक्र किया गया है। बिग बी को वर्ष 1969 में आई उनकी पहली ही फ़िल्म सात हिंदुस्तानी के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उसके बाद अग्निपथ, ब्लैक, पा और पीकू जैसी कुछ शानदार फिल्मों में बिग बी को मिले राष्ट्रीय पुरस्कार का भी चित्रण इस तस्वीर में किया गया है।

इसी प्रकार की खबरों के लिए सिने ब्लिट्ज़ के साथ बने रहें। 

ट्रेंडिंग

ब्रेकिंग न्यूज़ – 20 जून से मुम्बई में शूटिंग शुरू होने की उम्मीद

एफडब्लूआइसीई ने महाराष्ट्र सरकार का जताया आभार

Published at

on

मुम्बई,महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ फिल्म और टीवी धारावाहिकों  की शूटिंग की इजाजत दे दी है। राज्य सरकार नें शूटिंग शुरू करने के लिए कुछ नियम और शर्तें तय की हैं जिनका पालन सुनिश्चित करना होगा। महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले पर फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉयज (एफडब्लूआइसीई) के प्रेसिडेंट बीएन तिवारी,जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे,ट्रेजरार गंगेश्वरलाल श्रीवास्तव और चीफ एडवाइजर अशोक पंडित ने खुशी जताते हुए महाराष्ट्र सरकार का आभार जताया है। एफडब्लूआईसीई के प्रेसिडेंट बीएन तिवारी ने कहा है कि महाराष्ट्र के माननीय मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे जी ने घोषणा की है कि कुछ नियम और शर्तों के साथ पोस्ट प्रोडक्शन और शूटिंग की जा सकती है।इसके लिए मैं फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉयज और इससे जुड़े 5 लाख वर्करों की तरफ से और प्रोड्यूसर बॉडी की तरफ से उनको बहुत बहुत धन्यवाद देना चाहूंगा।श्री बीएन तिवारी ने कहा है कि बहुत दिनों से काम बंद था। हमारे वर्कर बहुत परेशान थे।सेटिंग डिपार्टमेंट के अस्सी प्रतिशत वर्कर अपने गांव जा चुके हैं। एक मुश्किल घड़ी आगयी थी। मैनें राज्य के सांस्कृतिक सचिव संजय मुखर्जी जी से वर्चुवल मीटिंग में कहा था कि थोड़ी देर और होगी और यदि जल्द ही शूटिंग के लिए डेट एनाउंस नही किया जाता है तो एक जून से ट्रेन सेवा शुरू हो रही है जो वर्कर बचे हैं वे भी गांव चले जाएंगे। महाराष्ट्र सरकार ने इस बात को संज्ञान में लिया और तमाम सुरक्षा उपायों के बीच यह राहत भरी खबर आई है। हम उम्मीद करते हैं कि 20 जून से फिल्मों,धारावाहिको,वेव सीरीज और एड फिल्मों की शूटिंग शुरू होगी।मैं फिर से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री, सरकार को और फ़िल्म इंडस्ट्रीज को धन्यवाद   देना चाहूंगा।और सबका अभिनंदन करना चाहूंगा।

गौरतलब हो कि महाराष्ट्र सरकार ने 31 मई की शाम को फिल्मों, टीवी शो और वेब सीरीज की शूटिंग की इजाजत दे दी। इसके लिए सरकार में कुछ शर्तें तय की हैं। फिल्म,  टीवी, वेब सीरीज यूनिटों को शूटिंग के वक्त सोशल डिस्टेंसिंग और स्वास्थ्य से संबंधित सभी दूसरे दिशानिर्देशों का पालन करना होगा। इसके साथ ही सिर्फ संबंधित रीजन के जिला अधिकारियों की अनुमति से ही शूटिंग की जा सकेगी।

भारत के सबसे मशहूर स्टूडियो फिल्मसिटी में शूटिंग के लिए जिला कलेक्टर से अनुमति लेनी होगी। प्रोडक्शन यूनिट को स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रेसीजर का पालन करना होगा। तथा हर सेट पर डॉक्टर,नर्स  तथा एम्बुलेंस की व्यवस्था करनी होगी।

इस तरह की ख़बरों के लिए सिने ब्लिट्ज के साथ बनें रहें https://cineblitz.in/hi/

Continue Reading

ट्रेंडिंग

कोलकाता नाइट राइडर्स ने अम्फान के संकट में बढ़ाया मदद का हाथ!

‘पश्चिम बंगाल मुख्यमंत्री राहत कोष’ : कोलकाता नाइट राइडर्स ने निधि में योगदान करने के लिए प्रतिबद्ध किया है।

Published at

on

कोलकाता नाइट राइडर्स ने मीर फाउंडेशन के साथ मिलकर अम्फान के बाद की लड़ाई के लिए सरकार के मौजूदा प्रयासों का समर्थन करने के लिए कई पहल की घोषणा की है।

‘पश्चिम बंगाल मुख्यमंत्री राहत कोष’ : कोलकाता नाइट राइडर्स ने निधि में योगदान करने के लिए प्रतिबद्ध किया है।

‘केकेआर सहायता वाहन’ : चक्रवात ने कई लोगों को बेघर कर दिया है और मूलभूत आवश्यकताओं से रहित है, ऐसे में केकेआर सहायता वाहन पहल पश्चिम बंगाल के कई स्थानों पर विशेष रूप से उपग्रह शहरों / जिलों में प्रभावित लोगों को आवश्यक किट वितरित करने में मदद करेगी।

‘वृक्षारोपण’ : जूही चावला मेहता के नेतृत्व में केकेआर प्लांट ए 6 अभियान, कोलकाता में पेड़ लगाने में वर्षों से लगातार काम कर रहा है। केकेआर ने उन 5000 पेड़ों को रोपने और फिर से भरने की प्रतिज्ञा ली है, जिन्हें समय-समय पर चक्रवात से नुकसान पहुंचा है।

केकेआर के सीईओ और एमडी, वेंकी मैसूर ने इन पहलों की घोषणा करते हुए कहा, “पश्चिम बंगाल राज्य और कोलकाता शहर कई मायनों में हमारे लिए खास रहा है। कोलकाता और पश्चिम बंगाल के लोगों ने केकेआर को गले से लगाया है और वर्षों से अपना प्यार और समर्थन देते आये है। यह प्रभावित लोगों को थोड़ी राहत प्रदान करने के लिए हमारी ओर से एक छोटा सा प्रयास है।”

इस तरह की ख़बरों के लिए सिने ब्लिट्ज के साथ बनें रहें https://cineblitz.in/hi/

Continue Reading

ट्रेंडिंग

रामायण 2008: क्रोधित भगवान लक्ष्मण के संवादों ने 200 क्रू सदस्यों को जोर से हसाया|

टेली टाउन में अपनी पहली भूमिका निभाते हुए, अंकित स्वाभाविक रूप से नर्वस थे !

Published at

on

टेलीविजन उद्योग में अंकित अरोरा (लक्ष्मण) के लिए शुरुआती दिन थे। टेली टाउन में अपनी पहली भूमिका निभाते हुए, अंकित स्वाभाविक रूप से नर्वस थे क्योंकि अभिनय में उनकी पृष्ठभूमि नहीं थी और किस्मत के चलते उन्हें लक्ष्मण की भूमिका मिली |

हालांकि, प्रत्येक एपिसोड और दृश्य के लिए पृष्ठभूमि कहानियाँ हैं, लेकिन उनमें से एक जो अनोखी है जब अंकित अरोरा को अपना पहला बड़ा संवाद देना था, जो तीन पेज का एक एकालाप था। सीता के स्वयंवर के दौरान, राजा जनक (सीता के पिता) के पास भावी दूल्हे के लिए एक भारी धनुष चुनने का कार्य था। हर कोई विफल रहा और उन्होंने कहा कि किसी के पास भी (राम सहित) ऐसा करने के लिए ताकत नहीं है। लक्ष्मण का क्रोधित चरित्र यह सुनकर परेशान हो जाते हैं और उन्हें जनक के बयान पर सवाल उठाने का जवाब देना पड़ता है। इस बयान के कारण लक्ष्मण क्रोधित हो जाते हैं और वह राजा से सवाल करना चाहते है |

उस घटना को याद करते हुए जो कल की तरह ताजा है, अंकित अरोरा ने कहा, “दृश्य में राजा जनक ने थोड़ा लंबा ब्रेक लिया और अपने संवाद को जारी रखने वाले थे, जब मुझे लगा कि 3 पेज के एकालाप को खत्म करने की मेरी बारी है। जैसे ही मैंने शुरू की, पूरी कास्ट और 200 लोगों के क्रू ने हँसना शुरू कर दिया और निर्देशक ने शॉट काट दिया । हंसी के लिए एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया के रूप में मैं वास्तव में क्रोधित हो गया और सभी को चुप रहने के लिए कहा। अगले ही पल पिन ड्रॉप साइलेंस था। निर्देशक खुद एक क्रोधी स्वभाव के व्यक्ति भी चुप रहे और मुझे दूसरे शॉट के लिए आग्रह किया| मैंने तब एक शॉट में 3 पेज का मोनोलॉग सुनाया। लक्ष्मण का किरदार जो एक गुस्सैल नौजवान है, वह भूमिका के बाद मेरा दूसरा स्वभाव बन गया। शो की शूटिंग समाप्त होने के बाद मैंने भूमिका से बाहर निकलने के बाद एक बार फिर शांत व्यक्ति बन गया। ”

हर शाम 7.30 बजे वादों और विचारधाराओं की महागाथा रामायण देखें, और 9.30 बजे टेलीकास्ट दोहराएं  दंगल TV  पर.

इस तरह की ख़बरों के लिए सिने ब्लिट्ज के साथ बनें रहें https://cineblitz.in/hi/

Continue Reading

Trending

>