Connect with us
Advertisement

ट्रेंडिंग

मिशन मंगल : दुनिया में भारत का अव्वल दर्ज़ा

भारत में इस परियोजना के अंतर्गत 5 नवम्बर 2013 को लगभग 2 बजकर 38 मिनट पर मंगल गृह की परिक्रमा करने के लिए आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित अंतरिक्ष केंद्र के पीएसएलवी सी-25 के ओर सैटेलाइट छोड़ा गया था।

Published

on

Mission-Mangal-team

आज अंतरिक्ष में भारत का नाम रोशान है इसमें कोई संदेश नही । अब भारत में मिशन मंगल के नाम की फिल्म बन कर पूर्ण रूप से तैयार है। यह फिल्म 15 अगस्त 2019 को देश के सभी सिनेमा घरों रिलीज़ किया जाना है। मिशन मंगल का ट्रेलर कल यानीं 18 जुलाई को रिलीज़ कर दिया गया है। इस फिल्म के ट्रेलर में अक्षय कुमार वैज्ञानिक रकेश धवन की भूमिका में देखे गए। देश के वह होनहार वैज्ञानिक जिन्होंने 2013 में भारत की तरफ से मार्स पर पहला सैटेलाइट भेजने का सपना पूरा किया था। इस फिल्म में विद्या बालन तारा शिंदे की भूमिका में देखी जा रही हैं, जो इस मिशन में राकेश धवन के साथ थीं। इस फिल्म में सोनाक्षी सिन्हा, तापसी पन्नू, कीर्ति कुल्हाड़ी और सरमन जोशी इस मिशन की टीम में शामिल दिखें।

यह फिल्म देश की सच्ची घटना पर आधारित है। इस फिल्म की कहनीं भारत के पहले मार्स मिसन यानी मंगलयान को बनाना और इसे सही तरीके सी मंगल गृह पर भेजा है। इस फिल्म को बॉलीवुड की पहली स्पेस फिल्म मानी जा रही है। इस फिल्म में भारत के कुछ गौरवानवित करने वाले पलों को भी समेट कर दिखाया गया है। यह फिल्म इसरो की उन महिला वैज्ञानिको की संघर्ष को बयां करता है, जो अपने व्यक्तिगत जीवन और एजेंसी के मंगल कार्यक्रम को लेकर अपनी प्रसिद्धता के बीच बेहतरीन तालमेल बैठाती हैं।

भारत का मिशन मंगल ​
यह कहानीं भारत के पहले मंगल अभियान मार्स आर्बिटर मिशन पर आधारित था। भारत में इस परियोजना के अंतर्गत 5 नवम्बर 2013 को लगभग 2 बजकर 38 मिनट पर मंगल गृह की परिक्रमा करने के लिए आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित अंतरिक्ष केंद्र के पीएसएलवी सी-25 के ओर सैटेलाइट छोड़ा गया था। इस मिशन मंगल के बाद अब भारत भी उन देशों में शामिल हो गया है, जो मंगल पर अपने यान भेज चुके हैं। भारत की तरफ से इसमें खास बात यह है कि भारत ने पहले प्रयास में ही सफलता पाने वाला दुनिया का पहला देश है। अक्षय कुमार इस फिल्म मिशन मंगल में महिला वैज्ञानिकों का बहुत ही बड़ा योगदान था। शायद यही वजह है कि फिल्म मिशन मंगल को लेकर अक्षय कुमार ने एक ट्वीट के जरिए कहा थी, कि इस फिल्म को मैं अपनी बेटी को समर्पित करना चाहता हूँ। शायद इस फिल्म के जरिये अक्षय एक बार फिर देश में महिलाओं के योगदान को बताना कहते हैं और उनके प्रति लोगों को करना कहते हैं !

 

इस तरह की खबरों के लिए सिने ब्लिट्ज के साथ बने  रहें

Advertisement
>