Connect with us

न्यूज़ और गॉसिप

कार्तिक आर्यन के मशहूर डायलॉग्स

Published

on

बॉलीवुड में अपनी कॉमेडी फिल्मों के बलबूते पर बेहद कम समय में ही अधिक प्रसिद्धि हासिल करने वाले अभिनेता कार्तिक आर्यन आज अपने फ़िल्मी सफर में स्वर्णिम दौर से गुजर रहे हैं। कार्तिक आर्यन अपनी पहली ही फिल्म प्यार का पंचनामा से दर्शकों में काफी चर्चित हो गए थे, इसके बाद इस फिल्म के दूसरे भाग ने भी दर्शकों के बीच उसी प्रकार का धमाल मचाया। कार्तिक आर्यन की फिल्मों से सबसे चर्चित हुए उनके डायलॉग्स, जो आते ही युवाओं पर छा गए। फिल्म प्यार का पंचनामा में उन्होंने बिना रुके 5 मिनट तक एक संवाद बोला, जो कि हिंदी फिल्मों में सबसे लम्बा संवाद माना जाता है। कार्तिक आर्यन का हास्यात्मक अभिनय भी सिनेमा घरों में बैठे दर्शकों को हंस-हंस के लोट-पोट होने पर मजबूर करता रहा है। आज हम आप को कार्तिक आर्यन के कुछ ऐसे डायलॉग्स के बारे में बताएँगे, जो काफी चर्चित रहें।

“प्रॉब्लम ये है कि वो लड़की है… और क्या प्रॉब्लम है? जब वो मुंह खोलती है तो मन करता है उसके मुंह में कुछ डाल दूँ… शॉपिंग तो ख़तम ही नहीं होती… ऑफिस में हूँ काम कर रहा हूँ, आई लव यू बोले बिना फ़ोन काटा तो नाटक… सबसे ज्यादा दिमाग की दही इस मोबाइल फ़ोन ने कर रखी है…” (प्यार का पंचनामा 2, 2015)

“हर कामयाब इंसान के पीछे एक लड़की होती है ये सच है… लेकिन कोई ये नहीं बताया कि हर अनसक्सेफुल मैन के पीछे भी एक औरत होती है…” (प्यार का पंचनामा, 2011)

 

“दारू पीके उलटी करना गलत बात नहीं है, गलत बात है उसका इशू बनाना…” (प्यार का पंचनामा, 2011)

 

“प्रॉब्लम ये है कि मैं चाहता हूँ मेरी लाइफ में कोई प्रॉब्लम ही ना हो… लेकिन अगर मेरी लाइफ में कोई प्रॉब्लम ना हो ना… तो ये उसके लाइफ की सबसे बड़ी प्रॉब्लम है…” (प्यार का पंचनामा, 2011)

 

“मैं तुझे उतने ही गहरे गड्ढे में कूदने दे सकता हूँ, जितनी मेरे पास रस्सी हो…” (सोनू के टीटू की स्वीटी, 2018)

“लड़की अगर लड़के के माँ-बाप के बारे में कुछ बोल ले तो कोई टेंसन नहीं… लेकिन लड़के उनके माँ-बाप के बारे में बोले तो थर्ड और फोर्थ वर्ल्ड वार एक साथ हो जाएंगे…” (प्यार का पंचनामा, 2011)

 

“शादी के पहले वो नागिन धुन पता है क्यों बजती है? क्योंकि बैंड वाला तुम्हे चेतावनी देता है कि कौन आ रहा है तुम्हारी ज़िन्दगी में, उसीका सिग्नेचर कॉपी है वो…” (प्यार का पंचनामा, 2011)

 

“इन लड़कियों को कोई खुश नहीं रख सकता…. अ हैप्पी वीमेन इज ए मिथ… लड़कियों से होने वाला हर डिस्कशन आर्ग्युमेंट होता है…” (प्यार का पंचनामा, 2011)

 

“हर लड़की की लाइफ में एक उम्र आती है, जब उसे एक ड्राइवर, बॉडीगार्ड, नौकर और एटीएम चाहिए होता है… इतना सबकुछ तो वो अफोर्ड कर नहीं सकती, इसलिए ढूंढती है एक बॉयफ्रेंड…” (प्यार का पंचनामा, 2011)

हाँ भैया शादियों का सीजन चल रहा है… जैसे अभी अनुष्का-विराट की हो गई… दीपिका-रणवीर की हो गई… यहाँ तक कि प्रियंका और निक की भी हो गई… तो मैंने सोचा मैं भी कर लेता हूँ…(लुका छुपी, 2019)

इसी प्रकार के और भी मजाकिया डायलॉग्स और ढ़ेर सारी ताज़ातरीन खबरों को पढ़ने के लिए सिने ब्लिट्ज के साथ इसी तरह बने रहें।

>