Connect with us

इंटरव्यू

बैठ कर रोने से बेहतर है कोशिश कर आगे बढ़ना -सैयमी खेर

Published at

on

This article is also available in: English (English)

सैयमी खेर की डेब्यू फिल्म “मिर्ज्या” भले ही बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास करने में असफल रही, लेकिन सैयमी एक प्रतिभाशाली अभिनेत्री हैं और वह अपनी जगह बना रही हैं। मराठी फिल्म “माउली” में अपने शानदार अभिनय के बलबूते पर उन्होंने हिंदी फिल्म जगत पर अपनी छाप छोड़ दी है। सिनेब्लिट्ज़ को दिए साक्षात्कार में सैयमी ने अपने फ़िल्मी सफ़र के उतार-चढ़ाव और फिल्मों में मिले कम मौकों से सम्बन्धित वाकयों पर खुलकर बात की।

मिर्ज्या से माउली तक आते-आते 2 साल लग गए। इस दौरान आपको बॉलीवुड में वापसी के लिए क्या-क्या करना पड़ा?

मिर्ज्या के रिलीज़ होने से एक दिन पहले मेरे पास कई फिल्मों के ऑफर आ चुके थे, लेकिन फिल्म के नहीं चलने पर वह ऑफर्स भी चले गए। एक बार जब आपकी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कारोबार नहीं कर पाती है, तो आपके लिए आगे की राह मुश्किल हो जाती है। फिल्म फ्लॉप होने के बाद स्ट्रगल शुरू हुआ। मिर्ज्या के बाद भी मुझे काफी फिल्म ऑफर हुई, लेकिन वह मेरे करने लायक नहीं थी। इसलिए मैं एक बेहतर मौके का इन्तेजार कर रही थी। मैंने मनी रत्नम के साथ एक साउथ फिल्म साइन की थी, जिसमें मैंने बहुत हार्ड वर्क भी किया, लेकिन उसका कुछ ख़ास नतीजा नहीं निकल सका। इसके बाद मुझे दो मराठी फिल्म ऑफर की गई, लेकिन उसमें मुझे वेस्टर्न गर्ल की भूमिका निभाने के लिए कहा गया। मुझे ऐसी फिल्म चाहिए थी, जिसमें मेरा किरदार अच्छा हो। माउली में मेरा किरदार एक भारतीय नारी का था, जो कि मुझे बहुत भाया। मुझे गर्व महसूस होता है कि फिल्म के प्रोडूसर और एक्टर रितेश देशमुख ने इस फिल्म में मुझे मौका दिया। माउली एक बड़ी फिल्म थी और रितेश की लय भारी के बाद दूसरी हिट फिल्म थी। इस फिल्म में अजय-अतुल ने संगीत दिया था और आदित्य सरपोतदार इस फिल्म के निर्देशक थे। इसलिए फिल्म को ना कहने का मेरे पास कोई कारण नहीं था।

आपने कहा कि सही फिल्म चुनने के लिए आपने समय लिया। आपने कैसे चुना? क्या आपको अच्छी स्क्रिप्ट नहीं मिल रही थी?

नहीं, अच्छी स्क्रिप्ट की कमी नहीं थी। पिछली कुछ फिल्मों को देखा जाए, तो कंटेंट बधाई हो और अन्धाधुन जैसे आ रहे थे। इस दौरान कुछ अच्छी स्क्रिप्ट्स आती हैं, तो फिर उसपर तैयारियां शुरू हो जाती हैं। सबसे पहले किसी फिल्म के लिए 15 ए-लिस्ट अभिनेत्रियों में से किसी एक को चुनने की कोशिश की जाती है, अगर उनमें से नहीं मिली, तो फिर बी-लिस्ट की ओर ध्यान दिया जाता है। अगर वहां से भी बात नहीं बनी, तो फिर निर्देशक किसी फिल्म स्टार के बच्चे को लॉन्च करने की सोचते हैं। अगर किसी स्टार चेहरे को नहीं, तो फिर किसी फ्रेश चेहरे को लॉन्च कर दिया जाता है। लेकिन कोई प्रोडूसर ऐसे अभिनेत्री को नहीं लेगा, जिसकी पहली फिल्म फ्लॉप हुई हो। हालाँकि आप हाथ पर हाथ धरे बैठ नहीं सकते, आपको आगे बढ़ना होगा। ऐसी स्क्रिप्ट चुनना मुश्किल होता है, जिसपर आप काम करना चाहते हो। मैं अन्धाधुन का हिस्सा बनना चाहती थी, लेकिन किसी कारणवश ऐसा हो नहीं पाया। मुझे इस दौरान कुछ सेक्स कॉमेडी फ़िल्में भी ऑफर की गई, लेकिन वह मैं नहीं करना चाहती थी। इसके बजाय मैं थिएटर क्लास और वर्कशॉप करने लगी। अच्छी स्क्रिप्ट की कमी नहीं थी, बस अच्छे मौके की कमी थी। ऐसे कई लोग हैं जो ऐसा ही सोचते हैं।

आप पारिवारिक भी हो, इसलिए यह सब आपके लिए उतना आसान नहीं हुआ होगा, इसपर आप क्या सोचती हैं?

हम नाशिक में एक छोटे से गाँव में रहते हैं। जहाँ मेरे माता-पिता ने मेरी बहन और मुझे लाया था, क्योंकि वह चाहते थे कि हम फ़िल्मी दुनिया से दूर रह सके। वह बॉलीवुड के बारे में बेहद गलत सोचते थे। लेकिन जिन्दगी ने पलटवार किया और मैं बॉलीवुड में आ गई। मेरा फ़िल्मी कनेक्शन जुड़ा, क्योंकि मेरी आंटी तन्वी आज़मी इस इंडस्ट्री में पहले से थीं। अगर मराठी फिल्म इंडस्ट्री में आने की बात की जाये, तो यहाँ मेरी दादी उषा किरण का बहुत नाम रहा है। यहाँ नाम को लेकर कोई तनाव नहीं था। उनके नक़्शे कदम पर चलते हुए मुझे यह आभास हुआ कि अभी सफर बहुत लम्बा है। इसके बाद मैंने आगे बढने के लिए कुछ ब्रांड्स के लिए ऑडिशन दिए।

आप डिजिटल स्पेस का भी हिस्सा बनने जा रही हैं, जो कि आप को और ऊँचाइयों पर ले जाएगा। आपका ओटीटी के बारे में क्या ख्याल है, क्या आप भी इसे फोलो करती हैं?

मैंने कुछ डिजिटल शो देखना शुरू किया है। हालाँकि मैंने कुछ शो को लेट देखना शुरू किया है। मैंने नार्कोस, ब्रेकिंग बैड और स्केयर्ड गेम्स देखा है, जिसके कंटेंट मुझे मजेदार लगे। वेब सीरीज और ओटीटी के बारे में मेरा मानना है कि यहाँ लोगों को यह चुनने की आजादी होती है कि वह क्या देखें और क्या नहीं। हम कभी भी कहीं भी किसी भी शो को देख सकते हैं, शायद इसलिए यह अच्छा भी है। पिछले दो सालों में यह उभर कर सामने आया है। हर कोई अब इसके साथ जाना चाहता है। आंकड़ों को देखा जाए, तो भारत में नेटफ्लिक्स को यूज करने वालों की संख्या केवल 2 प्रतिशत है। अगर रिच कैटेगरी को छोड़ दिया जाए, तो लोअर केटेगरी तक पहुँचने के लिए इसे काफी समय लग सकता है। अंगद बेदी मेरे बहुत अच्छे मित्र हैं और वेब पर कितने शो करते रहते हैं। उन्होंने कहा था कि वेब पर कई ऐसे कंटेंट आ रहे हैं, जिसे करना आसान नहीं है।

बॉलीवुड इंडस्ट्री में ऐसे कौन लोग हैं, जिससे आप एडवाइस लेती हैं?

राकेश(ओम प्रकाश मेहरा) सर। पिछले 3 सालों से वह मेरे लिए एक पारिवारिक सदस्य के रूप में हैं। उन्हें हम न केवल व्यवहारिक तौर पर, बल्कि मेंटर के तौर पर भी देखते हैं। जब भी मुझे कोई फिल्म या कुछ और ऑफर किया जाता है, तो मैं उनसे ज़रूर फीडबैक लेती हूँ। उनके विचार मेरे लिए बहुत मायने रखते हैं।

क्या बॉलीवुड में पैर ज़माने के लिए एक गॉडफादर की ज़रूरत होती है?

बॉलीवुड इंडस्ट्री में कुछ लोग इसप्रकार से ऊपर जरूर उठे हैं। यह इंडस्ट्री में पैर ज़माने का एक तरीका ज़रूर है, लेकिन यहाँ ऐसे भी कुछ लोग हैं, जो खुद की मेहनत से उभरकर सामने आये हैं और अपना नाम बनाया है। आप आयुष्मान खुराना और विकी कौशल को इसके उदाहरण के तौर पर देख सकते हैं।

न्यूज़ और गॉसिप

फिल्म 83 में दिखेगी रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण की जोड़ी

कपिल देव की बायोपिक में रणवीर सिंह मुख्य भूमिका में नज़र आने वाले हैं। यह फिल्म अगले वर्ष 10 अप्रैल को परदे पर दस्तक देगी।

Published at

on

Deepika-Padukone-Ranveer-Singh-83

This article is also available in: English (English)

कबीर खान के निर्देशन में बन रही फिल्म 83 इन दिनों लगातार सुर्ख़ियों में बनी हुई है। अक्सर खिलाड़ियों के प्रैक्टिस की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होती ही रहती हैं। फिल्म भारतीय टीम के 1983 क्रिकेट विश्वकप जीत पर आधारित है, इसलिए इस फिल्म पर फिल्म जगत से लेकर क्रिकेट जगत तक सभी की निगाहें टिकी हुई हैं। हालाँकि इस बार इस फिल्म के सुर्ख़ियों में आने की वजह रणवीर सिंह की पत्नी दीपिका पादुकोण हैं।

कपिल देव की इस बायोपिक में रणवीर सिंह मुख्य भूमिका में नज़र आने वाले हैं। सिने ब्लिट्ज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के अनुसार, इस फिल्म में दीपिका पादुकोण की भी एंट्री हो चुकी है। वह रणवीर सिंह की पत्नी की भूमिका में इस फिल्म नज़र आने वाली हैं। सिने ब्लिट्ज़ से बात करते हुई रणवीर ने इस बात का अंदेशा दिया था कि वह चाहते हैं दीपिका इस फिल्म में उनके साथ काम करें, लेकिन अब यह खबर निश्चित हो गई है कि दीपिका फिल्म 83 में रणवीर सिंह की पत्नी की भूमिका में नज़र आएँगी। हालाँकि दीपिका ने इस फिल्म को साइन करने का अलग ही कारण बताया है। दीपिका के अनुसार, उन्होंने इस फिल्म को इसलिए साइन किया, क्योंकि यह एक एतिहासिक फिल्म है और वह इसमें अभिनय करना चाहती हैं।

हम आपको बता दें कि इस फिल्म की तैयारियां ज़ोरों पर चल रही हैं। रणवीर सिंह इन दिनों दिल्ली में कपिल देव से प्रशिक्षण ले रहे हैं। इस फिल्म को लेकर तो दर्शक पहले से ही बेहद उत्साहित थें, लेकिन अब दीपिका की एंट्री उनकी बेसब्री को और बढाने वाली है, ये तो तय है। बहरहाल यह फिल्म अगले साल 10 अप्रैल को परदे पर दस्तक देगी। रणवीर और दीपिका की जोड़ी को एक साथ दोबारा परदे पर देखने की बेसब्री हमें भी है।

बॉलीवुड की ताज़ा तरीन खबरों के लिए सिने ब्लिट्ज़ के साथ बने रहें।

Continue Reading

न्यूज़ और गॉसिप

कुणाल खेमू ने किया खुलासा, 2020 में आ सकती है ‘गोलमाल 5 ?

अजय देवगन, तुषार कपूर, श्रेयस तलपड़े और अरशद वारसी के साथ अभिनेता कुणाल खेमू भी इस ‘गोलमाल गैंग’ का हिस्सा रहे हैं।

Published at

on

Kunal Khemmu

This article is also available in: English (English)

निर्देशक रोहित शेट्टी की गोलमाल सीरीज का क्रेज दर्शकों में खूब है। उनकी गोलमाल सीरीज काफी हिट रही है। हाल ही में परदे पर आई गोलमाल अगेन भी इस वर्ष की सुपरहिट फिल्मों में से एक रही थी। हालाँकि दर्शकों के मन में भी एक सवाल है कि गोलमाल का अगला पार्ट कब आएगा। इसी सिलसिले में हमें एक एक्सक्लूसिव जानकारी हाथ लगी है।

अजय देवगन, तुषार कपूर, श्रेयस तलपड़े और अरशद वारसी के साथ इस ‘गोलमाल गैंग’ का हिस्सा रहे अभिनेता कुणाल खेमू ने गोलमाल 5 को लेकर एक खुलासा किया है। कुणाल ने कहा, “हम गोलमाल के अगले पार्ट की तैयारी करने जा रहे हैं, वर्ष 2020 में यह फिल्म आ सकती है, इसलिए हम इसे लेकर आगे सोच रहे हैं।” खेमू ने यह भी कहा कि ये घोषणा अनौपचारिक है और इसपर काम शुरू होगा।

कुणाल खेमू के इस खुलासे के बाद यह बात तो तय हो गई है कि फिल्म कर्ताओं के बीच इस फिल्म को लेकर भी चर्चाएँ चल रही है। हालाँकि इस फिल्म को लेकर अबतक कोई अधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। लेकिन अगर यह फिल्म अगले साल आती है, तो यह प्रशंसकों के लिए किसी खुशखबरी से बढ़कर नहीं है। फ़िलहाल हमें इस फिल्म से जुड़ी और जानकारी नहीं मिल पाई है, अगर हमें कोई जानकारी मिलती है, तो उसे हम आपके सामने ज़रूर लायेंगे।

बॉलीवुड की ताज़ा तरीन खबरों के लिए सिने ब्लिट्ज़ के साथ बने रहें।

Continue Reading

न्यूज़ और गॉसिप

कुली नंबर 1: कादर खान की भूमिका में परेश रावल करेंगे कमाल!

परेश रावल पिछली बार परदे पर फिल्म ‘उरी-द सर्जिकल स्ट्राइक’ में नज़र आये थे। उनके अभिनय को दर्शक अक्सर सराहते आये हैं।

Published at

on

Paresh-Rawal-in-Coolie-No-1

This article is also available in: English (English)

वरुण धवन और सारा अली खान अभिनीत फिल्म कुली नंबर 1 इन दिनों लगातार सुर्ख़ियों में छाई हुई है। डेविड धवन के निर्देशन में बन रही इस फिल्म में अब भी किरदारों को लेकर असमंजस बना हुआ है। फिल्म में वरुण और सारा तो मुख्य भूमिका में नज़र आयेंगे, लेकिन बाकी कलाकारों को लेकर अभी कुछ खुलासा नहीं हुआ है। हालाँकि इस बीच हमें खबर मिली है कि इस फिल्म में कादर खान के किरदार में परेश रावल नज़र आयेंगे।

गौरतलब हो कि 90 के दशक में आई सुपरहिट फिल्म कुली नंबर 1 में दिवंगत कादर खान ने करिश्मा कपूर के पिता की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म में उनका दमदार अभिनय दर्शकों द्वारा खूब सराहा गया था। उसी फिल्म पर आधारित वरुण धवन और सारा अली खान स्टारर कुली नंबर 1 में अगर कादर खान की जगह परेश रावल नज़र आयेंगे, तो फिर वह सारा के पिता के रूप में दर्शकों को परदे पर दिखाई देंगे। अगर देखा जाए, तो परेश रावल इस अभिनय के लिए पूरी तरह फिट भी बैठते हैं।

परेश रावल की बात की जाये, तो वह पिछली बार परदे पर फिल्म उरी-द सर्जिकल स्ट्राइक में नज़र आये थे। उनके अभिनय को दर्शक अक्सर सराहते आये हैं। उनका अभिनय लोगों को हमेशा पसंद आया है। अब यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि सारा और उनके पिता की भूमिका में परेश रावल बड़े परदे पर किस प्रकार का अभिनय करते हैं और उस किरदार में वो कैसे नज़र आते हैं।

बॉलीवुड की ताज़ा तरीन खबरों के लिए सिने ब्लिट्ज़ के साथ बने रहें।

Continue Reading

Trending

>